Home

logo

COMMUNICATION TODAY

(Lighthouse of Media Professionals)
A Double-Blind Peer Reviewed Bilingual Media Quarterly

70th National Webinar | February 05th, 2023

70th National Webinar of the Webinar Series of Communication Today on Ethics in TV Reporting: Thr Non-Negotiable

Day & Date: Sunday, 5th February, 2023
Time: 11.30 AM

Do know the Ethics that are supposed to be practised without any ifs and but’s while reporting for TV and making it all public… Join us on…

Registration Link: https://forms.gle/mhCeqaSvU84vTWn79

Google meet link: https://meet.google.com/wjm-gpuq-hdf

YouTube link: https://youtu.be/s_4rn2rMhoA

Facebook page: https://www.facebook.com/pg/communication.today.journal

E-Certificate will be given to all registered participants.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर में उनके निवास पर कम्युनिकेशन टुडे की प्रति भेंट करते हुए

69th National Webinar | January 30, 2023

जयपुर से प्रकाशित मीडिया त्रैमासिक कम्युनिकेशन टुडे की 69वीं वेबिनार 30 जनवरी 2023 को आयोजित की गई।

वेबिनार को संबोधित करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में अतिरिक्त महानिदेशक श्री प्रकाश मगदुम ने हाल ही में लिखित अपनी पुस्तक ‘The Mahtma on Celluloid – A Cinematic Biography’ के संदर्भ में विस्तार से चर्चा करते हुए बताया कि आजादी के पहले गांधी ‘न्यूज़रील स्टार’ थे । उन्होंने कहा गांधी सिनेमा के पक्षधर इसलिए नहीं थे क्योंकि वे इंद्रियों पर नियंत्रण रखना चाहते थे।‌ आजादी से पूर्व और आजादी के बाद गांधी पर केंद्रित तथा गांधी के विचारों से प्रभावित सिनेमा के विविध प्रसंगों का उन्होंने विस्तार से उल्लेख किया।

सिनेमीडिया अपडेट, जयपुर के प्रधान संपादक एवं फिल्म समीक्षक श्री श्याम माथुर ने राजकुमार संतोषी की हाल ही में प्रदर्शित फिल्म ‘गांधी गौडसे – एक युद्ध’के संदर्भ में गांधी और गोडसे के बीच में हुए वैचारिक संघर्ष पर अपनी टिप्पणी करते हुए कहा यह फिल्म गांधी के व्यक्तित्व को और अधिक ऊंचाई प्रदान करती है। उनकी दृष्टि में फिल्म में असगर वजाहत के संवाद उसका सशक्त पक्ष है।

करीम सिटी कॉलेज जमशेदपुर की पत्रकारिता विभाग की प्रोफेसर इंचार्ज डॉ नेहा तिवारी ने सिनेमा को व्यापक रूप से परिभाषित करने की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए कहा कि गांधी भौगोलिक सीमाओं में सीमित नहीं हैं। उनके विराट व्यक्तित्व से पूरी दुनिया प्रभावित हुई है । गांधी एक विचार है जो अच्छाई बुराई के संघर्ष में अच्छाई की ओर आगे बढ़ने वाले प्रतीक के रूप में फिल्मों में अभिव्यक्त होते हैं।

जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी, जयपुर के प्रो नरेंद्र कौशिक ने आधुनिक दौर में हो रहे मूल्यों के क्षरण के संदर्भ में गांधी की प्रासंगिकता को प्रतिपादित किया। अपनी पुस्तक ‘गांधी इन सिनेमा’ की चर्चा करते हुए एक सदी सिनेमा की यात्रा में सिनेमा पर गांधी के प्रभाव को विवेचित किया।

कम्युनिकेशन टुडे के संपादक तथा राजस्थान विश्वविद्यालय में जनसंचार केंद्र के पूर्व अध्यक्ष प्रो संजीव भानावत ने चर्चा का संचालन किया। विषय प्रवर्तन करते हुए उन्होंने कहा कि गांधी ने भले ही सिनेमा को पसंद न किया हो लेकिन सिनेमा ने गांधी को पसंद किया। फिल्मकारों ने गांधी में एक नई उम्मीद और संभावना को तलाशा।

आईआईएमटी यूनिवर्सिटी, मेरठ की मीडिया शिक्षक डॉ पृथ्वी सेंगर ने तकनीकी पक्ष संभाला।

इस वेबिनार में देश के विभिन्न अंचलों से 270 प्रतिभागियों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया। जी मीडिया में प्रशिक्षु पत्रकार पुलकित तथा बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी, लखनऊ की शोधार्थी शालिनी श्रीवास्तव ने भी चर्चा में भाग लिया।

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर आप इस चर्चा को अपनी सुविधा के अनुसार देख सुन सकते हैं। हमारे इस शैक्षिक अभियान को सहयोग और समर्थन देते हुए कृपया इस वीडियो को लाइक करें, शेयर करें और सब्सक्राइब करें।

https://youtu.be/wJrUdVpB4cA

Call For Paper

CALL FOR RESEARCH PAPERS For Media Quarterly Journal” Jan-June, 2023 Issue

THEME- “MEDIA LITERACY & SOCIETAL WELL BEING’ (मीडिया लिटरेसी एवं लोक मंगल)

Media teachers, professionals and scholars from other academic streams are welcome to submit their research papers /articles on any relevant area of the theme up to 2500 words in Hindi or English language till 30th January 2023 at bhanawat.sanjeev@gmail.com.

Communication Today completed its Silver Jubilee of publication and I am feeling proud to share the special issues that have been published throughout these twenty-six years…

Changing Values in Journalism (Jul-Sep 1998)
A Compendium of Code of Conduct for Media Professionals (Jan-Jun 1999)
Kargil Special (Jan-Mar 2000)
Select Bibliography on Journalism and Mass Communication (Apr-Sep 2000)
The interplay of Print and Electronic Media (Oct-Dec 2000)
Journalism and PR Education Special (Jan-Jun 2001)
Media and Human Rights (Apr-Sep 2002)
Covid-19 and Media (Apr-Dec 2020)
100 years of Media Education in India (Jan-Mar 2021)
Media Education: Critical Thoughts (Apr-Jun 2021)
Digital Media: Challenges and Opportunities (Jan-June 2022)

Book Name: संजीव समय
File Size: 44.7 MB

Latest Videos

Online Release of Communication Today Documentary

Communication Today Documentary

Half an hour film made by Apeejay Institute of Mass Communication, Delhi on my academic & professional journey.

COMMUNICATION TODAY: 25 Varshon Ka Shandar Safar

Communication Today Documentary

Jain Talks #140 Journey of Jain Journalism Prof Sanjeev Bhanawat


Recent Published

JOIN OUR NEWSLETTER

Sign up to receive timely, useful information in your inbox.

search previous next tag category expand menu location phone mail time cart zoom edit close